गांधी युग महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी

महात्‍मा गांधी
  • महात्‍मा गांधी (मोहनदास करमचन्‍द गांधी) का जन्‍म 2 अक्‍टूबर, 1869 में गुजरात प्रान्‍त के पोरबन्‍दर नामक गांव में हुआ था।
  • इनकी माता पुतलीबाई तथा पिता करमचन्‍द गांधी तथा पत्‍नी कस्‍तूरबा गांधी थी।
  • इनकी जन्‍मतिथि 2 अक्‍टूबर को अहिंसा दिवस तथा पुण्‍य तिथि 30 जनवरी को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • 1893 में एक मुकदमें की पैरवी के लिए दक्षिण अफ्रीका गये तथा 1915 में वापस आ गये।
  • गांधी जी के राजनीतिक गुरू गोपाल कृष्‍ण गोखले थे।
  • गांधी जी ने 1906 में दक्षिण अफ्रीका में ही सत्‍याग्रह का पहला प्रयोग किया।
  • गांधी जी ने भारत में सत्‍याग्रह का पहला प्रयोग 1917 में बिहार के चम्‍पारण में किया
  • सर्वप्रथम ‘रविन्‍द्रनाथ टैगोर’ ने गांधी जी को महात्‍मा तथा ‘सुभाष चन्‍द्र बोस’ ने राष्‍ट्रपिता कहकर सम्‍बोधित किया था।
  • गांधी जी ने खिलाफत आन्‍दोलन, जलियांवाला बाग कांड तथा रौलेट एक्‍ट के विरोध में 1920 में ‘असहयोग आन्‍दोलन’ प्रारम्‍भ किया।
  • 11 फरवरी, 1922 के चौरी-चौरा कांड से दु:खी होकर गांधीजी ने असहयोग आन्‍दोलन को स्‍थगित कर दिया।
  • जलियांवाला बाग कांड (13 अप्रैल, 1919 ई०) के विरोध में गांधी जी ने 1920 में ‘केसर-ए-हिन्‍द’ की उपाधि लौटा दी।
  • गांधी जी ने 1919 में ‘यंग इडिया’ व ‘नवजीवन’ तथा 1933 में ‘हरिजन’ नामक पत्रिका का सम्‍पादन किया।
  • 1924 के एकमात्र बेलगांव अधिवेशन (कर्नाटक) में वे कांग्रेस के अध्‍यक्ष बने।
  • गांधी जी ने 12 मार्च 1930 को 78 अनुयायियों के साथ ‘डांडी’ यात्रा आरम्‍भ कर 6 अप्रैल, 1930 को 385 किमी० यात्रा कर डांडी नामक स्‍थान पर नमक बनाकर ‘नमक कानून‘ तोडा तथा सविनय अवज्ञा आन्‍दोलन शुरू किया।
  • 7 अप्रैल, 1934 को गांधी जी ने ‘सविनय अवज्ञा आन्‍दोलन’  को समाप्‍त कर दिया।
  • 1916 ई० में गांधी जी ने अहमदाबाद के निकट साबरमती आश्रम की स्‍थापना की।
  • ‘गांधी-इरविन’ समझौता 5 मार्च, 1931 को हुआ।
  • 1942 में प्रस्‍तुत क्रिप्‍स प्रस्‍ताव को गांधी जी ने पोस्‍ट डेटड चैक कहा।
  • 8 अगस्‍त, 1942 को प्रारंभ ‘भारत छोडो आन्‍दोलन’ के दौरान ही गांधी जी ने ‘करो या मरो’ का नारा दिया।
  • 1931 में लंदन में हुए द्वितीय गोलमेज सम्‍मेलन में गांधी जी ने कांग्रेस का नेतृत्‍व किया था।
  • गांधी जी की हत्‍या 30 जनवरी, 1948 को नाथुराम गोडसे ने प्रार्थना के समय किया।
  • गांधी जी की समाधि स्‍थल राजघाट कहलाता है।
  • विस्‍टन चर्चिल ने गांधी जी को अर्द्ध नग्‍न फकीर कहा है।
और नया पुराने