भारतीय राज्यव्यवस्था : राष्ट्रीय प्रतीक (Indian Polity : National Emblem)




  • हमारा राष्‍ट्रीय प्रतीक सारनाथ स्थित अशोक स्‍तम्‍भ से लिया गया जिसे आधिकारिक रूप से 26 जनवरी, 1950 को मान्‍यता मिली।

    राष्‍ट्रीय प्रतीक पर अंकित हाथी, घोडे एवं सांड आदि पशुओं का सम्‍बन्‍ध महात्‍मा बुद्ध के जीवन से है।

    राष्‍ट्रीय प्रतीक में ‘सत्‍यमेव जयते’ शब्‍द ‘मुण्‍डकोपनिषद’ से लिया गया है। राष्‍ट्रीय प्रतीक में यह सबसे नीचे अंकित है।

    राष्‍ट्रीय प्रतीक में सिंहों की संख्‍या 4 है जो एक दूसरे की ओर पीठ किए हुए हैं, इसी कारण इसमें केवल तीन सिंह दिखाई देते हैं, चौथा दिखाई नहीं देता। पटटी के मध्‍य में उभरी हुई नक्‍काशी में एक चक्र है जिसके दायी ओर एक सांड और बायीं ओर एक घोडा है।

    संविधान सभा द्वारा भारतीय राष्‍ट्रीय ध्‍वज को 22 जुलाई 1947 को मान्‍यता दी गयी थी। संविधान सभा के अन्‍तर्गत झण्‍डा समिति के अध्‍यक्ष जे०बी०कृपलानी थे।

    भारतीय ध्‍वज में केसरिया रंग साहस, बल, त्‍याग, निस्‍वार्थ भावना, सफेद रंग वीरता और हरा रंग समृद्धि का प्रतीक है।

    सफेद पटटी के मध्‍य में नीले रंग का एक 24 तीलियों वाला चक्र अंकित है। यह धर्मचक्र 24 घण्‍टों का दर्शता है।

    राष्‍ट्रीय ध्‍वज की लम्‍बाई व चौडाई का अनुपात 3:2 है।

    राष्‍ट्रीय ध्‍वज को लाहौर अधिवेशन में अपनाया गया था।

    भारतीय संसद, राष्‍ट्रपति भवन एवं सर्वोच्‍च न्‍यायालय पर वर्ष भर राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराने की व्‍यवस्‍था की गई है।

    26 जनवरी 2002 से ‘ध्‍वज संहिता भारत’ का स्‍थान ‘भारतीय ध्‍वज संहिता -2002’ ने ले लिया है। जिसके अनुसार आम नागरिकों, निजी संस्‍थाओं, शिक्षण संस्‍थाओं में राष्‍ट्रीय ध्‍वज का प्रदर्शन करने पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

    भारत के राष्‍ट्रगान ‘जन-गण-मन’ के रचनाकार गुरूदेव रविन्‍द्रनाथ टैगोर हैं।

    राष्‍ट्रीय गान प्रथम बार कलकत्‍ता अधिवेशन में 27 दिसम्‍बर 1911 को गाया गया। राष्‍ट्रीय गान गाये जाने का निर्धारित समय 52 सेकेण्‍ड है।

    राष्‍ट्रीय गान को आधिकारिक मान्‍यता 24 जनवरी 1950 को प्राप्‍त हुई है।

    हमारा राष्‍ट्रीय गीत ‘वन्‍दे मातरम’ है जो स्‍वतंत्रता संग्राम के दौरान जन-जन की प्रेरणास्रोत था।

    ‘वन्‍दे मातरम’ के रचयिता श्री बंकिमचन्‍द्र चटर्जी हैं। यह गीत सर्वप्रथम सन 1896 के कांग्रेस अधिवेशन में गाया गया था।

    भारत का राष्‍ट्रीयगीत ‘आनन्‍दमठ’ नामक पुस्‍तक का अंश है।

    राष्‍ट्रीय गीत को सर्वप्रथम यदुभाव भटटाचार्य ने स्‍वरबद्ध किया था।

    भारत का राष्‍ट्रीय पंचांग शक संवत पर आधारित है। इसे 22 मार्च 1957 को अपनाया गया था।

    भारतीय पंचांग का प्रथम माह चैत्र और अंतिम माह फाल्‍गुन होता है।

    भारत का राष्‍ट्रीय पुष्‍प कमल (नेलंबो न्‍यूसिफेरा गार्टन), राष्‍ट्रीय पशु बाघ्‍ (पैंथर टाइग्रिस लिनेयस), राष्‍ट्रीय वृक्ष बरगद (फाइकस बेंघालेंसिस) राष्‍ट्रीय फल आम (मेनिगफेरा इण्डिका) राष्‍ट्रीय पक्षी मोर (पावो क्रिस्‍टेटस) और जलीय जीव डाल्फिन है।
और नया पुराने